Monday, 29 August 2011


शुभ-विदाई 
प्रोफ़ेसर बी एस आर शास्त्री
(सेवा-निवृत्त 31 अगस्त 2011)
Department of Electronics Engineering
INDIAN SCHOOL OF MINES 
धनबाद, झारखण्ड
 
                        (कुण्डली)
सेवा उनतिस वर्ष  की, चले छोड़ धनबाद,
बच्चों ढिग जाकर रहें, सदा मिले संवाद |

सदा मिले संवाद, खिलायें  नाती-पोते,
बन दोनों कुल-सूत्र, सीप-मोतियाँ पिरोते

जोड़ी  पर  पुरजोर, कृपाकर गणपति देवा,
रहें स्वस्थ सानन्द, सदा शुभ पावैं सेवा ||

 (घनाक्षरी) 
जीरो एण्ड वन  बीच, डिजिटल से वर्ल्ड के 
बाइनरी नम्बर में, मार्गन्स-डी रोल है |

 बरबस स्टुडेंट की, बुद्धि होय फ्लिप-फ्लॉप 
पढ़े  अकलमंद  हो,  घूमता भू-गोल  है |

एनालाग-सिग्नल भी, माड्यूलेट होत-जात 
जीवन  में शानदार,  बनता कन्ट्रोल  है |

माइक्रो-प्रोसेसर का, इन्टरफेस मस्त है
 दुनिया की खातिर ये, शास्त्री अनमोल है |
dcgpthravikar.blogspot.com  dineshkidillagi.blogspot.com    neemnimbouri.blogspot.com

4 comments:

  1. हार्दिक शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  2. ग्रेस फुल इनिंग्स संपन्न करने पर प्रोफ़ेसर साहब को बधाई !जीवन अब शुरु होगा नए अंदाज़ में ... .
    आपकी ब्लोगिया दस्तक हमारे लिखे के आंच है ...
    शुक्रवार, २ सितम्बर २०११
    खिश्यानी सरकार फ़ाइल निकाले ...

    ReplyDelete