Saturday, 30 July 2011

विषय बड़ा यह शोध का, तरह तरह के थुक्कड़, 
राजा-रंक  फकीर  भी, हो  अमीर  या  फक्कड़ |
हो  अमीर  या  फक्कड़,  थूके   आसमान  में
हैं  सब  ही  मशगूल, प्यार  से  पीक - दान में |
चाट-चूट कर थूक,  थूक  कर  चाट  हमेशा,
टोपी  टोपी  खेल,  आज  का  बढ़िया पेशा ||

3 comments:

  1. वाह! अद्भुत! कमाल!

    ReplyDelete
  2. सटीक और बहुत बढ़िया - रचना से मेल खाती मजेदार भाषा

    ReplyDelete
  3. सुन्दर कटाक्ष

    ReplyDelete