Friday, 16 September 2011

मेरी टिप्पणियां -- इस सप्ताह ||

ख़ुशी का मन्त्र है यारो, 
नहीं रोना न शर्मिंदा |
बुरी बातों को भूलो जी, 
रहो बिंदास फिर जिन्दा |


बढे पेट्रोल सब्जी दुग्ध, 
राशन बम इलेक्ट्रिक बिल-
पुरानी दुश्मनी भूलो, 
रखो न याद आइन्दा 

888888888888888888888888888888888

जीवन में जो कुछ घटा, उचित अवधि के बाद,
गलत-सही  का आकलन, कर  पाए  उस्ताद |

कर   पाए   उस्ताद,  बाप  गलती  पर   डांटे,
तीस वर्ष का  कर्म,  आज  खुद  खाय  गुलाटे |

मारा  नाथू-राम,  नहीं  तो  करते  अनशन ,
बना दिया   ना-पाक,  कोसते अपना  जीवन ||

888888888888888888888888888888888

जिसकी लाठी भैंस उसी की, बड़ी कहावत |
यह अपनी सरकार, नए हद स्वयं बनावत ||

किसे पता कब जाय, सौंप देंगे वो हिस्सा |
याद नहीं क्या मित्र, बांग्ला-ताजा किस्सा ||

बना रहे सम्मान देश का,  सही करो अब नीत |
चीन-पाक अमरीका तक, भय बिन करिहैं प्रीत ||

3 comments:

  1. बेहतरीन टिप्पणियाँ .... आप श्रेष्ठ टिप्पणीकार भी हो गये हैं... मुझे आपका मस्तमौला अंदाज़ बहुत पसंद है.

    ReplyDelete
  2. बना रहे सम्मान देश का, सही करो अब नीत |
    चीन-पाक अमरीका तक, भय बिन करिहैं प्रीत ||
    रविकर जी बेहद सार्थक सकारात्मक पोस्ट .आभार आपका .

    ReplyDelete